राहु तीसरे घर में (Rahu in third house)

राहु तीसरे घर में (Rahu in third house)

वैदिक ज्योतिष(Vedic Astrology) के अनुसार कुंडली(Kundli) में तीसरे घर(Third House) का राहु(Rahu) व्यक्ति को धन और मान सम्मान दिलाता है| इसलिए राहु(Rahu) के लिए एक अच्छी स्थिति है । तीसरा घर मीडिया का माना जाता है| साथ ही साथ आज के जमाने में सोशल मीडिया भी बहुत प्रभावी है और राहु तकनीक और गैजेट का भी कारक है |इसलिए तकनीक और व्यापार के माध्यम से प्रचुर मात्रा में धन दिला सकता है । यंहा बैठा राहु(Rahu) व्यक्ति को बहुत चालाक बना सकता है| ऐसे में अगर वो किसी को धोखा भी देगा तो इतनी चालाकी से कि कोई आसानी से उसे पकड़ भी नहीं पाता है । चूँकि राहु(Rahu) को ग्लैमर पसंद है, इसलिए मीडिया में जबरदस्त सफलता दिला सकता है । ऐसा व्यक्ति वेल डेटर्मिन्ड (दृढ इच्छाशक्ति) वाला हो सकता है ।

वैदिक ज्योतिष(Vedic Astrology) के अनुसार कुंडली(Kundli) में तीसरे घर(Third House) से भाई बहनों का विचार किया जाता है| हालाँकि तीसरे राहु(Rahu) को भाई बहनो के लिए अच्छा नहीं माना गया | लेकिन अक्सर देखने में आया है कि ऐसा व्यक्ति बहुत ही चौकन्ना और कल्पनाशील होता है| विचार उसके दिमाग में तैरते रहते हैं| अच्छी शिक्षा के साथ साथ साहित्य और भूगोल में रूचि रखने वाला हो सकता है । इतना सब होने के बावजूद ऐसा व्यक्ति संवेदना से बहुत दूर होता है| रिश्तों को अहमियत नहीं देता या कह सकते हैं कि संबंधों के मामले में लापरवाह हो सकता है । ऐसे में राहु(Rahu) का आपके लिए सन्देश है कि अच्छी सफलता के लिए रिश्तों का मान सम्मान करें और दूसरों के प्रति संवेदना रखना सीखें । साथ ही साथ अपने ज्ञान को अपनी जानकारी को साझा करे | सामाजिक जीवन में दूसरों की भावनाओं का ख्याल रखें । कई बार देखा गया है कि ऐसा व्यक्ति अपनी संस्कृति के खिलाफ हो जाता है ।

वैदिक ज्योतिष(Vedic Astrology) के अनुसार कुंडली(Kundli) में तीसरे घर(Third House) से हिम्मत, वीरता ,वाणी का व्यय आदि का विचार किया जाता है |पुराने कर्मों की वजह से अपनी दमित भावनाओं को दूसरों पर थोपने की कोशिश में आप अराजक हो सकते हैं| दूसरों को नुक्सान पंहुचा सकते हैं | आपकी ये भावनाएं उन्माद की हद तक जा सकती हैं| इसलिए इन पर कण्ट्रोल जरुरी है वर्ना रिश्तों और सामाजिक संबंधों में आपको नुक्सान उठाना पड़ सकता है ।आपकी बेचैनी का मुख्य कारण स्वतंत्रता की भावना हो सकती है ,चाहे वो शारीरिक हो या बौद्धिक| आप हर तरह के प्रतिबन्ध से मुक्ति चाहते हैं| लेकिन इसके लिए कोई उद्देश्य या लक्ष्य होना जरुरी है लेकिन आप अपनी जरुरत के हिसाब से उसे तर्कसंगत बनाने का प्रयास करते हैं । इसलिए राहु(Rahu) का इस घर में बैठना आपके लिए साफ़ सन्देश लेकर आया है कि कुछ काम दूसरों के लिए भी करिये| दूसरों की भावनाओं का ख्याल भी रखिये और अपने आवेगों पर नियंत्रण रखिये ।

वैदिक ज्योतिष(Vedic Astrology) के अनुसार कुंडली(Kundli) में तीसरे घर(Third House) से संचार माध्यम का भी विचार किया जाता है |ज्ञान अर्जित करना आपके लिए सबसे आसान है| यंहा बैठे राहु(Rahu) की आपसे अपेक्षा है कि जो ज्ञान आपने अर्जित किया है या जो जानकारी आपने जुटाई है उसे जनमानस तक पहुंचाएं |एक शिक्षक के रूप में एक संचारक के रूप में पहुंचाएं और उसे प्रसारित करें| निश्चित ही आपको सफलता मिलेगी । तीसरा घर सामूहिक रूप से विचार प्रकट करने का और चौथा घर सामूहिक रूप से भावनाएं प्रकट करने का स्थान है| मै अक्सर कहता हूँ कि तीसरा घर सोशल मीडिया का भी घर है| इसलिए हमें विचार या भावनाएं प्रकट करने में दूसरों का ख्याल जरूर रखना चाहिए । ये इतना महत्वपूर्ण नहीं है कि आप क्या कहना चाहते हैं , बल्कि उससे भी महत्वपूर्ण है कि दूसरे क्या सुनना चाहते हैं ।

कुंडली(Kundli) के तीसरे घर(Third House) में बैठे राहु(Rahu) का आपके लिए साफ़ सन्देश है कि अगर आप इन बातों का ईमानदारी से पालन करते हैं तो आपको पब्लिक रिलेशन में , टीचिंग फील्ड में , लेखन में और डिबेट जैसे फील्ड में सफलता मिल सकती है । आध्यात्मिकता आपके अंदर स्वस्फूर्त हो सकती है| इसलिए आपको ज्यादा से ज्यादा लोगों से मिलना चाहिए| अपनी यात्रायें जारी रखनी चाहिए, लेकिन अपने अनुभवों को दूसरों के साथ साझा करना न भूलें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »